Header Ads

Header ADS

Attitude Shayari, Mujhe MashHoor Kar Diya


Ehsaan Yeh Raha Tohmat Lagane Walon Ka Mujh Par,
UthhTi Ungliyon Ne Mujhe MashHoor Kar Diya.
एहसान ये रहा तोहमत लगाने वालों का मुझ पर,
उठती उँगलियों ने मुझे मशहूर कर दिया।

Chhod Di Hai Ab Humne Wo Fankaari Varna,
Tujh Jaise Haseen Toh Hum Kalam Se Bana Dete The.
छोड़ दी है अब हमने वो फनकारी वरना,
तुझ जैसे हसीन तो हम कलम से बना देते थे।

Gumaan Na Kar Apne Dimaag Par Ai Dost,
Jitna Tere Paas Hai Utna Mera Kharab Rehta Hai.
गुमान ना कर अपने दिमाग पर ऐ दोस्त,
जितना तेरे पास है उतना तो मेरा खराब रहता है।

Shor Karte Raho Tum Surkhiyon Me Aane Ka,
Humari Toh Khamoshiyan Bhi Ek Akhbaar Hain.
शोर करते रहो तुम सुर्ख़ियों में आने का,
हमारी तो खामोशियाँ भी एक अखबार हैं।

Meri Yehi Andaaj Iss Zamane Ko Khalta Hai, Ke
Itna Peene Ke Baad Bhi Seedha Kaise Chalta Hai.
मेरा यही अंदाज इस जमाने को खलता है, कि
इतना पीने के बाद भी सीधा कैसे चलता है।

Naaz Kya Iss Pe Jo Badla Zamane Ne Tumhein,
Hum Hain Woh Jo Zamane Ko Badal Dete Hain.
नाज़ क्या इस पे जो बदला ज़माने ने तुम्हें,
हम हैं वो जो ज़माने को बदल देते हैं।

Gumaan Itna Nahi Achha Tu Sunn Le Pehle Jaane Ke,
Paltne Par Mukar Sakta Hun Tujhko JanNe Se Bhi.
गुमां इतना नहीं अच्छा तू सुन ले पहले जाने के,
पलटने पर मुकर सकता हूँ तुझको जानने से भी।

Mere Lafzon Se Na Kar Mere Kirdar Ka Faisla,
Tera Wajood Mit Jayega Meri Hakiqat Dhhoondte Dhhoondte.
मेरे लफ्जों से न कर मेरे किरदार का फ़ैसला,
तेरा वजूद मिट जायेगा मेरी हकीकत ढूंढ़ते ढूंढ़ते।

Mahboob Ka Ghar Ho Ya Farishton Ki Ho Zamin,
Jo Chhod Diya Phir Use Mudkar Nahi Dekha.
महबूब का घर हो या फरिश्तों की हो ज़मी,
जो छोड़ दिया फिर उसे मुड़ कर नहीं देखा।

Khwab Mein Toh Khwab Poore Ho Nahi Sakte Kabhi,
IsLiye Raahe-Hakiqat Par Chala Karta Hun Main.
ख्वाब में तो ख्वाब पूरे हो नहीं सकते कभी,
इसलिए राहे हकीकत पर चला करता हूँ मैं।

Sabke Dilon Mein Dhadkana Jaruri Nahi Hota Saahab,
Logon Ki Aankhon Me Khatkne Ka Bhi Ek Mazaa Hai.
सबके दिलों में धड़कना जरूरी नहीं होता साहब,
लोगों की आँखों में खटकने का भी एक मजा है।
Powered by Blogger.