Header Ads

Header ADS

Attitude Shayari, Haq Se Agar Do Toh


Haq Se Do Toh Tumhari Nafrat Bhi Qabool Humein,
Khairat Mein Toh Hum Tumhari Mohabbat Bhi Na Lein.
हक़ से दो तो तुम्हारी नफरत भी कबूल हमें,
खैरात में तो हम तुम्हारी मोहब्बत भी न लें।

Sooraj Dhala Toh Kad Se Unche Ho Gaye Saaye,
Kabhi Pairo Se Raundi Thi Yehi Parchhaiyan Humne.
सूरज ढला तो कद से ऊँचे हो गए साये,
कभी पैरों से रौंदी थी यहीं परछाइयां हमने।

Hum Toh Aankhon Mein Sanwarte Hain Wahin Sanwrenge,
Hum Nahi Jaante Aayine Kahaan Rakhe Hain.
हम तो आँखों में संवरते हैं वहीं संवरेंगे,
हम नहीं जानते आईने कहाँ रखें हैं।

MujhKo Mere Wajood Ki Hadd Tak Na Jaaniye,
BeHadd Hoon, BeHisaab Hoon, BeIntehaan Hoon Main.
मुझको मेरे वजूद की हद तक न जानिए,
बेहद हूँ बेहिसाब हूँ बेइन्तहा हूँ मैं।

Kee Mohabbat Toh Siyasat Ka Chalan Chhod Diya,
Hum Agar Pyar Na Karte Toh Hukoomat Karte.
की मोहब्बत तो सियासत का चलन छोड़ दिया,
हम अगर प्यार न करते तो हुकूमत करते।

Hum Bhi Bargad Ke Darakhton Ki Tarah Hain,
Jahan Dil Lag Jaye Wahan TaUmr Khade Rahte Hain.
हम भी बरगद के दरख़्तों की तरह हैं,
जहाँ दिल लग जाए वहाँ ताउम्र खड़े रहते हैं।

Apni Zid Ko Anjaam Par Pahuncha Dun Toh Kya,
Tu Toh Mil Jayegi Par Teri Mohabbat Ka Kya.
अपनी ज़िद को अंजाम पर पहुँचा दूँ तो क्या,
तू तो मिल जायेगी पर तेरी मोहब्बत का क्या?

Khuddariyon Mein Hadd Se Gujar Jana Chahiye,
Ijjat Se Jee Na Paaye Toh Mar Jaana Chahiye.
खुद्दारियों में हद से गुजर जाना चाहिए,
इज्जत से जी न पाये तो मर जाना चाहिए।

Kya Husn Ne Samjha Hai, Kya Ishq Ne Jaana Hai,
Hum Khak-Nashinon Ki Thhonkar Mein Zamana Hai.
क्या हुस्न ने समझा है, क्या इश्क ने जाना है,
हम खाक-नशीनों की ठोंकर में ज़माना है।

Rehte Hain Aas-Paas Hi Lekin Saath Nahi Hote,
Kuchh Log Mujhse Jalte Hain Bas Khaak Nahi Hote.
रहते हैं आस-पास ही लेकिन पास नहीं होते,
कुछ लोग मुझसे जलते हैं बस ख़ाक नहीं होते।
Powered by Blogger.