Header Ads

Header ADS

Attitude Shayari, Bhulna Humein Bhi Aata Hai


Bhul Kar Hamein Agar Tum Rehte Ho Salamat,
Toh Bhul Ke Tumko Sambhlna Humein Bhi Aata Hai,
Meri Fitrat Mein Yeh Aadat Nahi Hai Varna,
Teri Tarah Badal Jana Humein Bhi Aata Hai.
भूलकर हमें अगर तुम रहते हो सलामत,
तो भूलके तुमको संभलना हमें भी आता है,
मेरी फ़ितरत में ये आदत नहीं है वरना,
तेरी तरह बदल जाना हमें भी आता है।

Meri Takdeer Mein Jalna Hai Toh Jal Jaunga,
Main Koi Tera Vada Toh Nahi Jo Badal Jaunga,
MujhKo Na Samjhao Meri Zindagi Ke Usool,
Main Khud Hi Thhokar Kha Ke Sambhal Jaunga.
मेरी तकदीर में जलना है तो जल जाऊँगा,
मैं कोई तेरा वादा तो नहीं जो बदल जाऊँगा,
मुझको न समझाओ मेरी जिंदगी के उसूल,
मैं खुद ही ठोकर खा के संभल जाऊँगा।

Dushmano Ko Sazaa Dene Ki Ek Tehzeeb Hai Meri,
Main Haath Nahi Uthhata Bas Najron Se Gira Deta Hun.
दुश्मनों को सज़ा देने की एक तहज़ीब है मेरी,
मैं हाथ नहीं उठाता बस नज़रों से गिरा देता हूँ।

Bewaqt, Bewahaj, Behisaab Muskura Deta Hun,
Aadhe Dushmano Ko Toh Yun Hi Haraa Deta Hun.
बेवक़्त, बेवजह, बेहिसाब मुस्कुरा देता हूँ,
आधे दुश्मनो को तो यूँ ही हरा देता हूँ।

Khote Sikke Jo Abhi Abhi Chale Hain Baajar Mein,
Woh Kamiyan Nikaal Rahe Hain Mere Kirdaar Mein.
खोटे सिक्के जो अभी अभी चले हैं बाजार में,
वो कमियाँ निकाल रहे हैं मेरे किरदार में।

Abhi Sheesha Hun Sabki Aankho Mein Chubhta Hun,
Jab Aayina Banunga Saara Jahaan Dekhega.
अभी शीशा हूँ सबकी आँखों में चुभता हूं,
जब आईना बनूँगा सारा जहाँ देखेगा।

Hum Basaa Lenge Ek Duniya Kisi Aur Ke Saath,
Tere Aage Royein Ab Itne Bhi Begairat Nahi Hain Hum.
हम बसा लेंगें एक दुनिया किसी और के साथ,
तेरे आगे रोयें अब इतने भी बेगैरत नहीं हैं हम।

Be-Matlab Ki Zindgi Ka SilSila Khatm,
Ab Jis Tarah Ki Duniya Uss Tarah Ke Hum.
बेमतलब की जिंदगी का सिलसिला ख़त्म,
अब जिस तरह की दुनिया उस तरह के हम।
Powered by Blogger.